ABVP एक राष्ट्रवादी संगठन है, ये सब जेएनयू वालों की गलती है


thequint-2016-02-602550a3-3b20-4e4f-9adf-fa8c4e161feb-JNU ABVP

एबीपीवी एक राष्ट्रवादी पार्टी है, विरोध बर्दाश्त है, विभाजन की बात नहीं. इस देश में फ्रीडम ऑफ स्पीच इतनी ज्यादा है कि आप अपने प्रधानमंत्री को उनका नाम लेकर बुला सकते हैं
केंद्रीय मंत्री वेंकैय्या नायडु जी का ये बयान सुनकर तो मतलब जी खुश हो गया. ये जेएनयू वालों ने नाक में दम कर रखा था. गंगा ढाबे पर इनका आतंक कम था क्या जो ये डीयू तक पहुंच गए. अब एक तो ये अंग्रेजी भी इतनी किटर-पिटर बोलते हैं कि पूछो मत! जाने कौन-कौन से फिरंगियों के नाम गिनाने लगते हैं. पहले तो अंग्रेजी समझ नहीं आती फिर फिरंगी नाम सुनते ही खून अलग से खौल उठता है.
लेकिन नायडु जी ने ठीक बता दिया है. बताओ, मोदी जी को उनका नाम लेकर बुला सकते हैं. ये नहीं कि ऐजी-ओजी करके बुलाएं. सीधे नरेंद्र मोदी कहकर बुलाते हैं. और तो और ‘उनकी’ तुलना गधे से करते हैं. बताइये, ये भी कोई बात हुई. देवी कालरात्रि का वाहन है गधा. ये जान-बूझकर हमारी भावनाएं आहत करते हैं. लेकिन हम कुछ नहीं कहते.

दूध मांगोगे तो चॉकलेट देंगे-कश्मीर मांगोगे तो…

ये अफजल प्रेमी गैंग के सदस्यों ने कश्मीर का राग अलाप-अलाप कर नाक में दम कर दिया है. पहले बोलते थे कि कश्मीर मांगोगे तो खीर देंगे लेकिन इन्होंने इतनी आफत कर दी है कि अब तो मन करता है कि सिल्क चॉकलेट ही दे दें. महंगी तो है लेकिन क्या करें, देश बदल रहा है. मोदी जी बोले हैं प्रोग्रेस हो रही है तो दिखाना तो पड़ेगा न.
नायडु जी बिलकुल ठीक बोले हैं विभाजन की बात बर्दाश्त नहीं की जाएगी. कतई नहीं की जाएगी. अरे, विरोध करिए. राहुल गांधी भी तो कर रहे हैं. आप भी कर लो.

लेकिन मास्टर स्ट्रोक तो रिजिजू जी ने मारा है…

इसमें दो राय नहीं हैं कि नायडु जी ने एबीवीपी की इज्जत रख ली है. लेकिन खेल की दिशा तो रिजिजू जी ने 24 फरवरी को ही पलट दी थी. वो एक वीडियो वायरल हुआ था जिसमें दिल्ली पुलिस लड़कियों को पीट रही थी और एबीवीपी पर गाली-गलौच करने के आरोप लग रहे थे. पुलिस और एबीवीपी वाले लड़कों की भद्द पिट रही थी लेकिन रिजिजू जी ने शानदार अंदाज में गेंद उनके पाले में ही डाल दी. कैंपस में गुंडा-गर्दी के खिलाफ लड़ाई को एक ट्वीट से राष्ट्रवादियों और अति-वामपंथियों के बीच लड़ाई है. मतलब ‘जेएनयू वर्सेज ऑल इंडिया’.
अब रेप की धमकियां, मारपीट और गुंडागर्दी वाले सब आरोप गायब. अब अफजल प्रेमी गैंग के सदस्य पिछले साल की तरह नेशनलिज्म पर क्लासेज चलाकर सिद्ध करें अपना देशप्रेम.
रिजिजू जी ने बिलकुल आखिरी बॉल पर छक्का मारकर मैच अपने पाले में कर लिया है.

हर हर मोदी…घर घर मोदी

कोई कहे कुछ भी लेकिन मोदी जी के भीतर कुछ ऐसा जादू है जो उनकी भक्ति करने पर आपके अंदर आ ही जाता है. देखिए, रिजिजू और नायडु जी का करिश्मा.
ये अफजल प्रेमी गैंग के सदस्य मोदी भक्ति में लीन होते तो क्या पता अब तक इनके कश्मीर और आदिवासियों को आजादी मिल भी गई होती. लेकिन ये गांजा फूंकने वाले वामपंथी सुनें तब न. इन्हें तो वो कार्ल मार्क्स और वो चीन वाला माओ ही पसंद हैं तो झेलें पुलिस के घूंसे और रेप की धमकियां.
Advertisements

Leave a Reply

Fill in your details below or click an icon to log in:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out / Change )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out / Change )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out / Change )

Google+ photo

You are commenting using your Google+ account. Log Out / Change )

Connecting to %s